भारत की प्रमुख झीलें

0
131
भारत की प्रमुख झीलें
भारत की प्रमुख झीलें

 

भारत की प्रमुख झीलें:- आज SSCGK आपसे भारत की प्रमुख झीलें नामक विषय के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

इससे पहली पोस्ट में आप भारत के प्रमुख पठार नामक विषय को विस्तार से पढ़ चुके हैं।

भारत की प्रमुख झीलें:-

हम जानते हैं कि भारत एक प्राकृतिक विविधता वाला देश है।

हमारे देश में  कई प्राकृतिक और मानव निर्मित झीलें पाई जाती हैं। 

भारत में पाई जाने वाली प्रमुख झीलों का विवरण निम्नलिखित है:-

  1. वूलर झील
  2. डल झील
  3. जयसमंद झील
  4. चिल्का झील
  5. पुलिकट झील
  6. लोकटक झील
  7. सांभर झील
  8. वेंबनाद झील
  9. पंचभद्रा झील

            10.अष्टमुदी झील

  1. चो-ल्हामु झील

 

 Bharat Ki Pramukh Jheelen:-

  1. वूलर झील:-वूलर झील भारत की सबसे बड़ी ताजे पानी की झील है। यह जम्मू कश्मीर में स्थित है। यह झेलम नदी पर निर्मित गोखुर झील का उदाहरण है।

 

  1. डल झील:-यह झील जम्मू कश्मीर कश्मीर के श्रीनगर में हिमानी से निर्मित ताजे जल की झील है।

 

  1. जयसमंद झील:-यह राजस्थान में मीठे पानी की सबसे बड़ी कृत्रिम झील है| झील का निर्माण मेवाड़ के राणा जय सिंह ने गोमती नदी, झामरी, व बगार नदियों का पानी रोक कर करवाया था। इस खेल में कुल 7 टापू है ।इनमें सबसे बड़े का पुत्र का नाम ‘बाबा का भगड़ाध्भकड़ा’ है।झील से श्यामपुरा व भट्टा नामक दो नहरें भी निकाली गई है।

 

  1. चिल्का झील:-चिल्का झील भारत की सबसे बड़ी लैगून झील है। चिल्का झील के अंदर कई छोटे-छोटे द्वीप हैं जिनमें ‘नालाबाना’ द्वीप प्रमुख है।किसे रामसर आर्द्रभूमि सूची के अंतर्गत 1981 में शामिल किया गया था।

 

भारत की प्रमुख झीलें:-

  1. पुलिकट झील-पुलिकट झील आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु की सीमा पर स्थित है। यह 350 किलोमीटर में फैली हुई एक लैगून झील है। इसका 84% भागो आंध्र प्रदेश में 16% भाग तमिलनाडु की सीमा में स्थित है।

 

  1. लोकटक झील:-यह झील मणिपुर राज्य के विष्णुपुर जिले में स्थित है यह उत्तर पूर्वी भारत की सबसे बड़ी झील है कि इसका क्षेत्रफल लगभग 300 किलोमीटर है। यह झील पैर की जेल के नाम से प्रसिद्ध है। इस झील को ‘मणिपुर की जीवन रेखा’ कहा जाता है।

 

  1. सांभर झील:-यह भारत में खारे पानी की सबसे बड़ी आंतरिक झील है। यह राजस्थान के जयपुर की फुलेरा तहसील में स्थित है। इसका निर्माण चौहान शासक वासुदेव ने करवाया था। इसमें खंडेला, खारी, मेंथा, रूपनगढ़ आदि नदियां आकर गिरती हैं। भारत की कुल नमक उत्पादन का 8.7% सांभर झील से ही उत्पादित होता है।

 

  1. वेंबनाद झील:-यह झील केरल में स्थित है |यह एक लैगून झील है| यह भारत की सबसे लंबी झील है| इसकी लंबाई लगभग 96.5 किलोमीटर है। इसी झील के पूर्वी तट पर ‘कुमार कौम पक्षी अभयारण्य’ स्थित है । इस झील में हर वर्ष ओणम के अवसर पर ‘नेहरू ट्रॉफी नौकायन प्रतियोगिता’ आयोजित की जाती है ।किसी झील में ‘वेलिंगटन द्वीप’ स्थित है, जहां पर भारत का सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग NH- 47A है।

 

भारत की प्रमुख झीलें:-

 

  1. पंचभद्रा झील:-यह झील राजस्थान के बाड़मेर जिले के बालोतरा के पास स्थित है। इस झील का नमक समुद्री झील के नमक से मिलता जुलता है ।इस झील के नमक में 98 प्रतिशत सोडियम क्लोराइड की मात्रा पाई जाती है। प्राचीन काल से ही खारवाल जाति के 400 परिवार मोरली वृक्ष की टहनियों से नमक के स्फटिक तैयार करते हैं। इस झील का निर्माण पंचा भील के द्वारा करवाया गया था ।इसी कारण इसे पंचभद्रा कहते हैं।

 

              10.अष्टमुदी झील:-अष्टमुदी झील केरल के कोमल जिला 6 लैगून झील जिसकी 8 शाखाएं हैं। इसे रामसर समझौते द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महत्व की आर्द्र भूमि घोषित किया गया है।

 

  1. चोल्हामु झील:–   यह झील सिक्किम के उत्तरी भाग में 18000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है ।यह भारत की सबसे ऊंची झील है।

 

भारत की प्रमुख कृत्रिम झीलें-

भारत में मानव निर्मित कृत्रिम झीलें भी पाई जाती हैं, जिनका विवरण निम्नलिखित है-

  1. गोविंद सागर झील
  2. निजाम सागर झील
  3. गोविंद बल्लभपंत झील

             4. नागार्जुन सागर झील

  1. स्टेनले झील
  2. गांधी सागर झील
  3. जवाहर सागर झील
  4. राणा प्रताप सागर झील

 

भारत की प्रमुख झीलें:-

 

  1. गोविंद सागर झील-भारत की सबसे बड़ी कृत्रिम झील गोविंद सागर झील है यह हिमाचल प्रदेश में सतलुज नदी पर बनाई गई है।

 

  1. निजाम सागर झील-यह झील गोदावरी की सहायक नदी मंजीरा नदी पर बनाई गई है।

 

  1. गोविंद बल्लभपंत झील-यह झील उत्तर प्रदेश राज्य के सोनभद्र जिले ने बनाई गई है। इसका निर्माण सोन नदी की सहायक नदी रिहंद नदी के जल को रोक कर किया गया है।

 

            4. नागार्जुन सागर झील-यह झील कृष्णा नदी के जल को रोक कर बनाई गई है।

 

  1. स्टेनले झील- स्टेनले झील तमिलनाडु में कावेरी नदी का पानी रोक कर बनाई गई है।

 

  1. गांधी सागर झील गांधी सागर झील मध्य प्रदेश में स्थित है। इसका निर्माण चंबल नदी के जल को रोककर किया गया है।

 

  1. जवाहर सागर झील जवाहर सागर झील का निर्माण चंबल नदी के जल को रोककर किया गया है।

 

  1. राणा प्रताप सागर झील-राणा प्रताप सागर झील का निर्माण चंबल नदी के जल को रोककर किया गया है।