विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरण

0
67
विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरण
विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरण

विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरण:-इस आर्टिकल में आज SSCGKआप को विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरणों के बारे में विस्तार से समझाएंगे। इससे पहले आर्टिकल में आप शिक्षण की वैज्ञानिक विधि के बारे में विस्तार से पढ़ चुके हैं।

विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरण:-

हम किसी भी स्तर पर विज्ञान शिक्षण को निम्न प्रकार से वर्गीकृत कर सकते हैं:-

१.जांच कौशल का विकास करना।

२.सकारात्मक मनोवृति का पोषण करना।

३.विश्व के जैविक व भौतिक पहलुओं के बारे में वैज्ञानिक ज्ञान प्राप्त करना।

एक विज्ञान शिक्षक को देखना चाहिए कि विज्ञान पाठ्यक्रम इस प्रकार से बनाया जाए कि बच्चे इन सभी अवयवों का अनुभव कर सकें। इसका परिणाम यह होगा कि विज्ञान की प्रकृति व उद्देश्य की साझी समझ पूरे विद्यालय में विज्ञान शिक्षण व उसकी योजना के समन्वित उपागम को बढ़ावा देगी और शिक्षण संस्थाओं के उपागमों के मूल्यांकन में भी मदद करेगी।

HOW TO MAKE A  LESSON PLAN OF G.SCIENCE-

विज्ञान पाठ्यक्रम की योजना बनाते हुए निम्नलिखित मुद्दों की जानकारी होनी चाहिए-

No.1.थीम आधारित उपागम बनाम विषय आधारित उपागम

No.2. पाठ्य पुस्तकें व कार्यपत्रक

No.3. विज्ञान क्रियाकलापों में सुरक्षा

No.1.थीम आधारित उपागम बनाम विषय आधारित उपागम-एक प्रभावी शिक्षण के लिए थीम शिक्षण और विषयों को समाहित करना हर स्तर पर महत्वपूर्ण है। परंतु इसके लिए सावधानी पुराण योजना बनाने की आवश्यकता होती है। प्रयोग की गई थीमों की सीमा के भीतर योजना बनाना, उन्हें शिक्षण की विधि सुनिश्चित करने में मदद करती है।

विज्ञान पाठ्यक्रम के महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है-बच्चे और विद्यालय के स्थानीय पर्यावरण की खोज। यदि हम विद्यालय के इलाके एवं पूसा क्षेत्र के निवास स्थानों केप्रकार व प्राकृतिक पर्यावरण की विशेषताओं से परिचित हैं तो इससे हमें योजना प्रक्रिया में काफी सहायता मिलेगी।

विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरण-

No.2. पाठ्य पुस्तकें व कार्यपत्रक-जब भी विज्ञान शिक्षक पाठ योजना बनाए तो वह पाठ्य पुस्तकों वह कार्यपत्रकों के मूल्यांकन से संबंधित चर्चा अवश्य कर लें।विज्ञान शिक्षण केवल पाठ्यपुस्तक किया कार्यपत्रक पर आधारित नहीं होना चाहिए। उसे ऐसे क्रियाकलापों का चयन करना चाहिए, जिससे बच्चों को खुली सीमाओं में कार्य करने में सहायता मिले।

No.3. विज्ञान क्रियाकलापों में सुरक्षा-शिक्षक को किस जांच या खोज कार्य में बरती जाने वाली सुरक्षा संबंधी जानकारी अच्छी तरह से होनी चाहिए।विज्ञान शिक्षण के सभी पहलुओं की सुरक्षा का ध्यान रखना चाहिए और बच्चों को भी सभी कार्यकलापों के दौरान सुरक्षा उपायों का प्रयोग करने के लिए प्रेरित करना चाहिए। प्रारंभिक अवस्था में विज्ञान क्रियाकलापों में रसायनों को वह अन्य खतरनाक पदार्थ का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

विज्ञान शिक्षण में पाठ योजना बनाने के प्रमुख चरण:-

एक अच्छी विज्ञान पाठ योजना बनाने के चरण:-

पाठ योजना के चक्र में 8 चरण होते हैं-

  1. उद्देश्यों का निर्धारण।
  2. परिभाषित उद्देश्यों के अनुसार पाठ की खोज।
  3. उपयुक्त शिक्षण विधि का चुनाव।
  4. प्रायोगिक पाठ योजना प्रारूप की पहचान।
  5. पाठ की व्यवस्था का निर्धारण।
  6. उपयुक्त सहायक सामग्री का चुनाव।
  7. पाठ की शुरुआत व अंत की तैयारी।
  8. अंतिम रूप रेखा की तैयारी।