छायावाद युगीन हिंदी साहित्य

0
56
छायावाद युगीन हिंदी साहित्य
छायावाद युगीन हिंदी साहित्य

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य:-इस आर्टिकल में SSCGK आज आपसे छायावाद युगीन हिंदी साहित्य के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

इससे पहले आर्टिकल में आप द्विवेदी युगीन हिंदी साहित्य के बारे में विस्तार से पढ़ चुके हैं।

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य:-

हिंदी साहित्य में छायावाद का प्रारंभ १९१८ ई .से मन जाता है |छायावाद की समय सीमा १९१८ से
१९३६ ई . तक मानी  जाती है | प्रसाद ,निराला ,पन्त एवं महादेवी वर्मा छायावाद के चार स्तम्भ माने
जाते हैं |छायावादी काव्य का जन्म द्विवेदी युगीन काव्य की प्रतिक्रिया स्वरुप हुआ |प्रारंभ में छायावाद
का प्रयोग व्यंग्य के रूप  में उन कविताओं के लिए किया गया जो अस्पष्ट थीं,जिनकी छाया कहीं ओर
पडती थीं |बाद में यह नाम उन कविताओं के लिए रूढ़ हो गया  जिनमे मानव और प्रकृति के सूक्ष्म
सौन्दर्य में आध्यात्मिक छाया का आभास  होता था और वेदना जी रहस्यमयी अनुभूति की लाक्षणिक
एवं प्रतीकात्मक शैली में अभिव्यंजना की जाती थी | 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य:- 

नोट- परीक्षा की दृष्टि से सभी प्रश्न अनिवार्य हैं।

प्रश्न 1.-छायावाद की समय सीमा क्या मानी गई है?

(क) 1900 ई. -1920 ई.

(ख) 1920 ई-1935 ई.

(ग) 1918 ई.-1936 ई.

(घ) 1930 ई.-1950 ई.

उत्तर -(ग) 1918 ई.-1936 ई.।

 

प्रश्न 2-छायावाद को “स्थूल के प्रति सूक्ष्म का विद्रोह” किस आलोचक ने कहा है ?

(क) आचार्य रामचंद्र शुक्ल

(ख) नंददुलारे वाजपेयी

(ग) डॉ. नगेंद्र

(घ) डॉ. नामवर सिंह

उत्तर- (ग) डॉ. नगेंद्र।

 

प्रश्न 3.-“छायावाद तत्वत: प्रकृति के बीच जीवन का उदगीथ है।…… उसका मूल दर्शन सर्वात्मवाद है।” परिभाषा किसकी है?

(क) जयशंकर प्रसाद

(ख) सुमित्रानंदन पंत

(ग) रामकुमार वर्मा

(घ) महादेवी वर्मा

उत्तर -(घ) महादेवी वर्मा

 

प्रश्न 4.-“परमात्मा की छाया आत्मा में और आत्मा की छाया परमात्मा में पड़ने लगती है। यही छायावाद है ।” यह परिभाषा किस आलोचक की है?

(क) आचार्य रामचंद्र शुक्ल

(ख) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(ग) रामकुमार वर्मा

(घ) जयशंकर प्रसाद

उत्तर -(ग) रामकुमार वर्मा

 

प्रश्न 5.-“जब वेदना के आधार पर सहानुभूतिमयी अभिव्यक्ति होने लगी, तब हिंदी में उसे छायावाद के नाम से अभिहित किया गया।” यह कथन किस व्यक्ति का है?

(क) जयशंकर प्रसाद

(ख) परमानंद श्रीवास्तव

(ग) डॉ. नगेंद्र

(घ) शांतिप्रिय द्विवेदी

उत्तर-(क) जयशंकर प्रसाद।

 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य फॉर एसएससी:-

प्रश्न 6.-“छायावाद शब्द का प्रयोग दो अर्थों में समझना चाहिए -एक तो रहस्यवाद के अर्थ में और दूसरा काव्य शैली किया पद्धति विशेष के व्यापक अर्थ में।” यह कथन किस आलोचक का है?

(क) डॉ. नगेंद्र

(ख) आचार्य रामचंद्र शुक्ल

(ग) मुकुटधर पांडेय

(घ) आचार्य नंददुलारे वाजपेयी

उत्तर-(ख) आचार्य रामचंद्र शुक्ल।

 

प्रश्न 7.-“छायावाद के मूल में पाश्चात्य रहस्यवादी भावना अवश्य थी। इस श्रेणी की मूल प्रेरणा अंग्रेजी की रोमांटिक भाव धारा की कविता से प्राप्त हुई थी।”

यह विचार किस आलोचक के हैं?

(क) आचार्य रामचंद्र शुक्ल

(ख) रामविलास शर्मा

(ग) आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी

(घ) डॉ. नगेंद्र

उत्तर-(ग) आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी।

 

प्रश्न 8.-इनमें से कौन सी विशेषता छायावादी काव्य में नहीं है?

(क) रहस्यवादी भावना

(ख) स्थूलता के स्थान पर सूक्ष्मता

(ग) शोषण का विरोध

(घ) अभिव्यंजना पद्धति में नवीनता

उत्तर-(ग) शोषण का विरोध।

 

प्रश्न 9.-“विधुर उर के मृदु भावों से, तुम्हारा कर नित नव श्रृंगार।

पूजता हूं मैं तुम्हारी तुम्हें कुमारि मूंद दुहरे दृग द्वार।।”

यह पंक्तियां की छायावादी कवि की है?

(क) सुमित्रानंदन पंत

(ख) जयशंकर प्रसाद

(ग) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

(घ) महादेवी वर्मा

उत्तर-(क) सुमित्रानंदन पंत।

 

प्रश्न 10. “धिक जीवन जो पाता ही आया है विरोध।

धिक साधन जिसके लिए सदा ही किया शोध।।”

उपरोक्त पंक्तियां किस कवि की हैं?

(क) सुमित्रानंदन पंत

(ख) जयशंकर प्रसाद

(ग) सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

(घ) महादेवी वर्मा

उत्तर-(घ) महादेवी वर्मा।

 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य फॉर HSSC:-

प्रश्न 11.”ले चल मुझे भुलावा देकर मेरे नाविक धीरे-धीरे।”इस पंक्ति के आधार पर प्रसाद पर क्या आरोप लगा था?

(क) दार्शनिक होने का

(ख) पलायनवादी होने का

(ग)  यथार्थवादी होने का

(घ) आदर्शवादी होने का

उत्तर -(ख) पलायनवादी होने का।

 

प्रश्न 12. कामायनी के पात्र ‘इड़ा’ का प्रतीकार्थ क्या है?

(क) ह्रदय

(ख) बुद्धि

(ग) मन

(घ) धर्म

उत्तर- (ख) बुद्धि

 

प्रश्न 13. “नारी तुम केवल श्रद्धा हो” पंक्ति किस छायावादी कवि की है?

(क) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

(ख) जयशंकर प्रसाद

(ग) महादेवी वर्मा

(घ) सुमित्रानंदन पंत

उत्तर- (ख) जयशंकर प्रसाद।

 

प्रश्न 14. “अंबर पनघट में डुबो रही तारा घट उषा नागरी”यह पंक्ति किस कवि की हैं?

(क) सुमित्रानंदन पंत

(ख) जयशंकर प्रसाद

(ग) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

(घ) महादेवी वर्मा

उत्तर- (ख) जयशंकर प्रसाद

 

प्रश्न 15. कामायनी का प्रकाशन कब हुआ?

(क) 1925 ई.

(ख) 1935 ई.

(ग) 1940 ई.

(घ) 1915 ई.

उत्तर- (ख) 1935 ई.

 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य फॉर सीपीओ:-

प्रश्न 16.जयशंकर प्रसाद की उस काव्य ग्रंथ का नाम बताइए जिसकी रचना पहले ब्रजभाषा में की गई थी किंतु बाद में उसे खड़ी बोली ने रूपांतरित कर दिया गया?

(क) झरना

(ख) प्रेम पथिक

(ग) लहर

(घ) आंसू

उत्तर -(ख) प्रेम पथिक

 

प्रश्न 17.इन कविताओं में ऐसे छायावाद का प्रारंभ किस कविता से मानना उचित है?

(क) मौन निमंत्रण

(ख) जूही की कली

(ग) मैं नीर भरी दुख की बदली

(घ) बादल

उत्तर – (ख) जूही की कली।

 

प्रश्न 18.जयशंकर प्रसाद की अंतिम कृति इनमें से कौन सी है?

(क) आंसू

(ख) झरना

(ग) लहर

(घ) कामायनी

उत्तर- (घ) कामायनी।

 

प्रश्न 19. कामायनी में कुल कितने सर्ग हैं?

(क) 8

(ख) 10

(ग) 6

(घ) 15

उत्तर- (घ) 15

 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य:-

प्रश्न 20.-‘सुघनी साहू’ घराने में किस छायावादी कवि का जन्म हुआ था?

(क) निराला

(ख) प्रसाद

(ग) पंत

(घ) मुकुटधर पांडेय

उत्तर -(ख) प्रसाद

 

प्रश्न 21.-जयशंकर प्रसाद द्वारा रचित वीर काव्य कौन सा है ?

(क) आंसू

(ख) झरना

(ग) लहर

(घ) चित्राधार

उत्तर-(क) आंसू।

 

प्रश्न 22.-‘कामायनी’ में किस दर्शन की अभिव्यक्ति हुई है?

(क) बौद्ध दर्शन

(ख) अद्वैतवाद

(ग) विशिष्टाद्वैतवाद

(घ) शैवदर्शन

उत्तर – (घ) शैवदर्शन।

 

प्रश्न 23.-‘धिक जीवन जो पाता ही आया है विरोध’ में किसके जीवन का सत्य अभिव्यक्त हुआ है ?

(क) निराला के जीवन का

(ख) विभीषण के जीवन का

(ग) हनुमान के जीवन का

(घ) लक्ष्मण के जीवन का

उत्तर -(क) निराला के जीवन का

 

प्रश्न 24.-‘सरोज स्मृति’ नामक रचना किस कवि की है?

(क) सुमित्रानंदन पंत

(ख) प्रसाद

(ग) निराला

(घ) मैथिलीशरण गुप्त

उत्तर-(ग) निराला।

 

प्रश्न 25.-‘राम की शक्ति पूजा’ का कथानक प्रतीक के रूप में घोषित करता है-

(क) राम की रावण पर विजय

(ख) देव की दानव पर विजय

(ग) मानव की शक्ति पर विजय

(घ) सत्य की असत्य पर विजय

उत्तर-(घ) सत्य की असत्य पर विजय।

 

  

प्रश्न 26.-निम्नलिखित में से कौन सा छायावादी कवि आकाशवाणी में सेवारत था?

(क) जयशंकर प्रसाद

(ख) सुमित्रानंदन पंत

(ग) हरिवंश राय बच्चन

(घ) रामधारी सिंह दिनकर

उत्तर-(ख) सुमित्रानंदन पंत

 

प्रश्न 27.-निम्नलिखित सूचियों को सम्मिलित करते हुए सही विकल्प का चयन कीजिए:

    सूची एक (कृति)       सूची दो (कृतिकार)

  1. राम की शक्ति पूजा   (a) सुमित्रानंदन पंत
  2. आंसू (b) महादेवी वर्मा
  3. लोकायतन     (c) जयशंकर प्रसाद
  4. सांध्यगीत    (d) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला
  5. 2.   3.  4.

(क)  d   b   c    a

(ख)  c   a   d    b

(ग)  d    c   a    b

(घ)  b   d    a    c

उत्तर-(ग)  d   c   a   b

 

प्रश्न 28.-निम्नलिखितनिम्नलिखित रचनाओं में से कौन सी रचना पर ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त हुआ है?

(क) कामायनी

(ख) दीपशिखा

(ग) चिदंबरा

(घ) अनामिका

उत्तर-(ग) चिदंबरा

 

प्रश्न 29. ‘राम की शक्ति पूजा’ के संबंध में कौन सा कथन सत्य है?

(क) निराला के राम तुलसी के राम से भिन्न नहीं हैं

(ख) निराला के राम अवतारी पुरुष हैं

(ग) निराला के राम सामान्य मानव हैं

(घ) निराला के राम लीला पुरुषोत्तम हैं

उत्तर-(ग)  निराला के राम सामान्य मानव हैं।

 

प्रश्न 30.’सरोज स्मृति’ में सरोज कौन है?

(क) निराला की पत्नी

(ख) निराला की प्रेमिका

(ग) निराला की माता

(घ) निराला की पुत्री

उत्तर-(घ) निराला की पुत्री

 

प्रश्न 31.”निराला की साहित्य साधना” नामक ग्रंथ के रचयिता कौन है?

(क) सुमित्रानंदन पंत

(ख) नंददुलारे वाजपेयी

(ग) रामविलास शर्मा

(घ) डॉ. नगेंद्र

उत्तर- (ग) रामविलास शर्मा

 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य:-

प्रश्न 32.”हम दीवानों की क्या हस्ती है, आज यहां कल वहां चले’यह पंक्ति किस कवि की है?

(क) माखनलाल चतुर्वेदी

(ख) बालकृष्ण शर्मा नवीन

(ग) नरेंद्र शर्मा

(घ) भगवती चरण वर्मा

उत्तर-(घ) भगवती चरण वर्मा।

 

प्रश्न 33.”कवि कुछ ऐसी तान सुनाओ जिससे उथल-पुथल मच जाए”यह पंक्ति किस कवि की है?

(क) बालकृष्ण शर्मा नवीन

(ख) माखनलाल चतुर्वेदी

(ग) सुमित्रानंदन पंत

(घ) नरेंद्र शर्मा

उत्तर-(क) बालकृष्ण शर्मा नवीन

 

प्रश्न 34.’कुकुरमुत्ता’ नामक कविता किस कवि ने लिखी है?

(क) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

(ख) सुमित्रानंदन पंत

(ग) रामनरेश त्रिपाठी

(घ) माखनलाल चतुर्वेदी

उत्तर-(क) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

 

प्रश्न 35.हिंदी में मधु काव्य की रचना का श्रेय किसे दिया जाता है?

(क) रामधारी सिंह दिनकर

(ख) हरिवंश राय बच्चन

(ग) रमानाथ अवस्थी

(घ) भवानी प्रसाद मिश्र

उत्तर-(ख) हरिवंश राय बच्चन।

 

प्रश्न 35.’मधुकलश’ के रचनाकार का नाम बताइए।

(क) हरिवंश राय बच्चन

(ख) बालकृष्ण शर्मा नवीन

(ग) अयोध्या सिंह उपाध्याय

(घ) रामधारी सिंह दिनकर

उत्तर-(क) हरिवंश राय बच्चन

 

प्रश्न 36.”बजी नफीरी और नमाज़ी भूल गया अल्ला ताला”  यह पंक्ति किस कवि की, किस रचना से हैं?

(क) दिनकर -उर्वशी

(ख) हरिऔध -रसकलश

(ग) बच्चन -मधुशाला

(घ) रामनरेश त्रिपाठी -पथिक

उत्तर-(ग) बच्चन -मधुशाला

 

प्रश्न 37.किस कवि ने काव्य का क्रमिक विकास छायावाद प्रगतिवाद एवं नव मानवतावाद के रूप में हुआ है?

(क) सुमित्रानंदन पंत

(ख) जयशंकर प्रसाद

(ग) महादेवी वर्मा

(घ) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

उत्तर-(क) सुमित्रानंदन पंत।

 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य:-

प्रश्न 38.-“कविता करने की प्रेरणा मुझे सबसे पहले प्रकृति निरीक्षण से मिली जिसका श्रेय मेरी जन्मभूमि कूर्मांचल प्रदेश को है।”यह कथन किस कवि का है?

(क) जयशंकर प्रसाद

(ख) महादेवी वर्मा

(ग) सुमित्रानंदन पंत

(घ) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

उत्तर -(ग) सुमित्रानंदन पंत।

 

प्रश्न 39.-‘प्रकृति का सुकुमार कवि’ किसे कहा जाता है?

(क) सुमित्रानंदन पंत

(ख) जयशंकर प्रसाद

(ग) श्रीधर पाठक

(घ) अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध

उत्तर-() सुमित्रानंदन पंत।

 

प्रश्न 40.-‘महापुराण’ किस छायावादी कवि के नाम से पहले जुड़ता रहा है?

(क) जयशंकर प्रसाद

(ख) सुमित्रानंदन पंत

(ग) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

(घ) महादेवी वर्मा

उत्तर -(ग) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला।

 

प्रश्न 41.-‘तोड़ती पत्थर’ कविता का मूल स्वर क्या है?

(क) छायावादी

(ख) प्रगतिवादी

(ग) प्रयोगवादी

(घ) इनमें से कोई नहीं

उत्तर -(ख) प्रगतिवादी।

 

प्रश्न 42.-पंत की किस काव्य कृति को ‘छायावाद का मेनिफेस्टो’ कहा जाता है?

(क) पल्लव

(ख) गुंजन

(ग) ग्रंथि

(घ) वीणा

उत्तर- (क) पल्लव

 

प्रश्न 43.-‘जूही की कली’ कविता को ‘सरस्वती’ संपादक महावीर प्रसाद द्विवेदी ने के आरोप लगाकर प्रकाशित करने से इंकार कर दिया था?

(क) इसमें प्रकृति पर मानवीय चेतना का आरोप है

(ख) इस में अश्लीलता है

(ग) इसमें लाक्षणिक पदावली है

(घ) यह छंदबद्ध नहीं है

उत्तर-(ख) इसमें अश्लीलता है।

 

प्रश्न 44.-‘मतवाला’ और ‘समन्वय’ नामक पत्रिका का संपादन किस छायावादी कवि ने किया था?

(क) जयशंकर प्रसाद

(ख) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

(ग) सुमित्रानंदन पंत

(घ) मुकुटधर पांडेय

उत्तर–(ख) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला।

 

छायावाद युगीन हिंदी साहित्य:-

प्रश्न 45.-आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने ‘छायावाद का जनक’ किसे कहा है?

(क) लोचन प्रसाद पांडेय

(ख) रूपनारायण पांडेय

(ग) मुकुटधर पांडेय

(घ) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

उत्तर-(ग) मुकुटधर पांडेय

 

प्रश्न 46.-रामधारी सिंह दिनकर की किस रचना पर ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त हुआ है?

(क) रेणुका

(ख) हुंकार

(ग) सामधेनी

(घ) उर्वशी

उत्तर-(घ) उर्वशी

 

प्रश्न 47.आधुनिक मीरा के नाम से किसे जाना जाता है?

(क) सुभद्रा कुमारी चौहान

(ख) सरोजिनी नायडू

(ग) महादेवी वर्मा

(घ) उषा प्रियंवदा

उत्तर-(ग) महादेवी वर्मा

 

प्रश्न 48.प्रवासी के गीत नामक काव्य संकलन किस कवि का है?

(क) हरिवंश राय बच्चन

(ख) नरेंद्र शर्मा

(ग) माखनलाल चतुर्वेदी

(घ) भवानी प्रसाद मिश्र

उत्तर-(ख) नरेंद्र शर्मा

 

प्रश्न 49.पंत जी की किस काव्य कृति में भाषा, अलंकार, छंद, शब्द चयन के संबंध में एक लंबी भूमिका है?

(क) गुंजन

(ख) ग्रंथि

(ग) पल्लव

(घ) वीणा

उत्तर-(ग) पल्लव

 

प्रश्न 50. निम्नलिखित में से कौन सी कृति में महादेवी की संपूर्ण कविताएं संकलित है?

(क) सांध्या गीत

(ख) नीरजा

(ग) दीपशिखा

(घ) यामा

उत्तर- (घ) यामा