भारत की मुख्य फसलें

0
138
भारत की मुख्य फसलें
भारत की मुख्य फसलें

भारत की मुख्य फसलें:-आज इस आर्टिकल में  SSCGK आपसे भारत की मुख्य फसलें नामक विषय के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे|
इससे पहले आर्टिकल  में आप भारत का प्राकृतिक विभाजन के बारे में विस्तार से पढ़ चुके हैं।

भारत की मुख्य फसलें:-


भारत मुख्य रूप से कृषि प्रधान देश है। यहां की अधिकांश जनसंख्या खेती पर ही निर्भर है। यहाँ की अर्थव्यवस्था में कृषि की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है |यहाँ पर अनेक प्रकार की फसलों की खेती  की जाती है| मौसम के आधार पर, भारत में  उगाई जाने वाली फसलों को तीन प्रकार से विभाजित किया जाता है:-

No.1.-रबी

No.2.-खरीफ 

No.3.-ज़ायद

भारत की मुख्य फसलें फॉर एसएससी-

No.1.-खरीफ की फसल- भारत में खरीफ की फसलों की बुवाई जून-जुलाई में मानसून की बारिश शुरू होने पर की जाती है तथा सितंबर-अक्टूबर में कटाई की जाती है। इस  प्रकार  की फसलों के अंकुरण के लिए सामान्य तापमान और नमीयुक्त हवा की आवश्यकता होती है | खरीफ की फसलों में मुख्य फसलें हैं-चावल, ज्वार, बाजरा, मक्का,अरहर , मूंग ,कपास, मूंगफली, जूट, गन्ना, हल्दी, दालें (जैसे उड़द दाल) आदि।

No.2.-रबी फसलें– रबी की फसलें अक्टूबर-नवंबर में अर्थात सर्दी के मौसम में  बोई जाती हैं तथा अप्रैल-मई में इनकी कटाई की जाती है। इस  प्रकार  की फसलों के अंकुरण के लिए ठंडे मौसम की तथा पकने के लिए सूर्य के प्रकाश एवं अधिक तापमान की आवश्यकता होती है | रबी की मुख्य फसलें हैं-गेहूं, ओट, ग्राम,मसूर, सरसों, मटर, जौ, आलू, टमाटर, प्याज, तेल के बीज (जैसे रेपसीड, सूरजमुखी, तिल, सरसों) आदि।

No.3.-ज़ायद फसलें- जायद की फसलों को मार्च-जून के बीच बोया जाता है। इस  प्रकार  की फसलों को ग्रीष्म ऋतु की फसलें भी कहते हैं |ज़ायद की मुख्य फसलें हैं-ककड़ी, लौकी, कद्दू, तरबूज, खरबूजे , मूंग दाल,जूट आदि। जैसा कि आप जानते हैं कि साल भर में यहां गेहूं, धान, गन्ना, मक्का ,ज्वार, बाजरा आदि अनेक प्रकार की फसलें उगाई जाती हैं।

Bharat ki Mukhya Faslen FOR CPO:-

भारत में उगाई जाने वाली प्रमुख फसलें निम्नलिखित हैं-

No.1.गेहूं:- गेहूं भारत की मुख्य खाद्यान्न फसल है। भारत इसके अग्रणी उत्पादक देशों में से एक है |गेहूं के उत्पादन में भारत का विश्व में दूसरा स्थान है |भारत में  गेहूं का उत्पादन हरियाणा ,पंजाब ,उत्तर प्रदेश,बिहार,मध्य प्रदेश एवं राजस्थान में किया जाता है |  इससे बनीं रोटियां व ब्रैड मुख्य खाद्यान्न पदार्थ है। गेहूं की बुवाई के समय नर्म जलवायु और कटाई के समय शुष्क जलवायु की आवश्यकता होती है।

Bharat ki Mukhya Faslen for HSSC:-

No.2.चावल:- चावल भारत की मुख्य खाद्यान्न फसल है। यह संसार में चावल का सबसे बड़ा उत्पादक देश है।
चावल एक उष्णकटिबंधीय पौधा है। इसकी (चावल) कृषि के लिए उच्च नमी के साथ उच्च गर्मी की आवश्यकता होती है।
पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, असम, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, उड़ीसा, बिहार, छत्तीसगढ़ व
तमिलनाडु राज्य चावल के प्रमुख उत्पादक हैं।छतीस गढ़ राज्य को ‘धान का कटोरा’ कहा जाता है |

भारत की मुख्य फसलें:-

No.3.बाजरा:- भारत बाजरे के प्रमुख उत्पादक देशों में से एक है। बाजरा भी भारत की प्रमुख खाद्यान्न फसल है ।
भारत में बाजरा मुख्य रूप से हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, झारखण्ड, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश,
तमिलनाडु, केरल, तेलंगाना आदि राज्यों में उगाया जाता है।

No.4. दाल:- दालों के उत्पादन में भारत एक अग्रणी  देश है। यहां दालों का उत्पादन बड़े पैमाने पर किया जाता है।
राजस्थान,उत्तर प्रदेश, हरियाणा,मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र आदि देश के प्रमुख दाल उत्पादक राज्य हैं। शाकाहारी लोगों के
प्रोटीन का मुख्य स्रोत दालें हैं। यहां पर चना, मूंग, उड़द, मसूर, तुअर आदि दलहनों का उत्पादन किया जाता है।

No.5. मक्का:-मक्का भारत की प्रमुख फसलों में से एक है। भारत में इसका उत्पादन पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश,
बिहार, पश्चिम बंगाल महाराष्ट्र और कर्नाटक में मुख्य रूप से किया जाता है।

भारत की मुख्य फसलें:-

No.6. तिलहन:-भारत तिलहनों का मुख्य उत्पादक है। देश में तिलहनों के मुख्य उत्पादक राज्य हैं-राजस्थान,
पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, बिहार, असम, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा और आंध्र प्रदेश ।
तिलहन फसलों में मुख्य रूप से सरसों, मूंगफली, तिल,अलसी, सोयाबीन, सूरजमुखी के बीज, कपास के बीज,
कास्टर बीज और कुसुम बीज शामिल हैं।

No.7. गन्ना:-गन्ना भारत में प्रमुख फसल है। गन्ने के उत्पादन के लिए21°- 27° डिग्री तापमान और 75-150 सेंटीमीटर
वर्षा के  के साथ गर्म और नम जलवायु की आवश्यकता होती है। यह एक लंबी अवधि की फसल है और इसे 10 से
12 महीने लगते हैं। देश के प्रमुख गन्ना उत्पादक राज्य हैं- पंजाब, उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक ।

भारत की मुख्य फसलें:-

No.8. कपास:-कपास भारत की मुख्य फसलों में से एक है। यहां कपास का उत्पादन बड़े पैमाने पर होता है।
सूती वस्त्र बनाने में कपास का उपयोग किया जाता है। देश में मुख्य रूप से कपास का उत्पादन हरियाणा,
राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक  आदि राज्यों में  किया जाता है।

No.9.कॉफी:-भारत में कॉफी का उत्पादन भी किया जाता है। देश में कॉफी का उत्पादन मुख्य रूप से
कर्नाटक में किया जाता है। देश में कॉफी प्रमुख पेय पदार्थ के रूप में इस्तेमाल की जाती है।

No.10. जूट:-जूट भारत की मुख्य फसलों में से एक है। देश में मुख्य रूप से जूट का उत्पादन पश्चिम
बंगाल, असम और उड़ीसा में किया जाता है। जूट से रस्से, रस्सियां, सुतलियां, कट्टे, बोरे, बोरियां
आदि उपयोगी वस्तुएं बनाई जाती हैं।

भारत की मुख्य फसलें:-

No.11.फलों की खेती:-भारत में खाद्य एवं दलहन फसलों के अतिरिक्त फलों की भी खेती की जाती है।
हमारा देश आम, केले और सेब में अग्रणी उत्पादक है। यहां उगाई जाने वाली फलों की प्रमुख फसलें हैं
आम
, केला, सेब, संतरा, कीनू, अमरूद, चीकू, अंगूर, अनानास, मौसमी, बेर, नासपाती, जामुन,
अनार आदि । भारत आम की खेती विभिन्न जलवायु परिस्थितियों और विभिन्न प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है।

भारत में आम सबसे प्रमुख फसल है। देश के प्रमुख आम उत्पादक राज्य हैं- गुजरात, उत्तर प्रदेश,
आंध्र प्रदेश, बिहार, कर्नाटक और महाराष्ट्र आदि।

केला भारत की दूसरी सबसे प्रमुख फसल है। यहां केले की खेती 1,64,000 हेक्टेयर क्षेत्र में की जाती है।
देश के प्रमुख केला उत्पादक राज्य हैं- पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, गुजरात,
बिहार, आंध्र प्रदेश और असम आदि।

भारत खट्टे फलों(नींबू, संतरा, कीनू, मौसमी, माल्टा) के उत्पादन में तीसरे स्थान पर है।

अमरूद के उत्पादन में चौथे और अंगूर के उत्पादन में पांचवें स्थान पर है।

  1. झूम कृषि क्या होती है?

Ans.- झूम कृषि के अंतर्गत जंगलों को काट कर भूमि साफ की जाती है। इसके बाद उस भूमि पर खेती की जाती है।कुछ दिनों बाद जब भूमि की उपजाऊ शक्ति समाप्त हो जाती है तो वह भूमि छोड़ दी जाती है। भारत में झूम खेती पूर्वोत्तर राज्यों में की जाती है। विभिन्न देशों में झूम कृषि को भिन्न-भिन्न नामों से जाना जाता है।

जैसेश्रीलंका में झूम कृषि को चेन्ना, वेनेजुएला में कोनुको, फिलीपींस में चौगन, मेक्सिको में मिलपा तथा मलेशिया में लाडांग कहा जाता है।