भारत के राज्यों के लोक नृत्य

0
82
भारत के राज्यों के लोक नृत्य
भारत के राज्यों के लोक नृत्य

भारत के राज्यों के लोक नृत्य:- आज SSCGK आपसे भारत के राज्यों के लोक नृत्य के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

इससे पहली पोस्ट में आप Days name ine English and Hindi विस्तार से पढ़ चुके हैं।

भारत के राज्यों के लोक नृत्य:-

भारत एक विशाल देश है। यह त्योहारों का देश हैं|  यहाँ किसी न किसी राज्य के लोगों द्वारा हर समय कोई न कोई उत्सव मनाया जाता हैं। इन उत्सवों को मनाने की हर क्षेत्र की एक अपनी परम्पराए हैं। भारत में सभी धर्मों के लोगों के द्वारा प्रायः हर क्षेत्र में विभिन्न उत्सवों पर भिन्न-भिन्न क्षेत्र में भिन्न भिन्न नृत्य किये जाते हैं, जिसे लोक नृत्य के नाम से जाना जाता हैं।

यहां के विभिन्न राज्यों में भिन्न-भिन्न भाषाएं बोलने वाले, विभिन्न धर्मों में आस्था रखने वाले एवं विभिन्न जातियों के लोग निवास करते हैं । समय-समय पर इन सभी धर्मों के लोगों के भिन्न- भिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं, जिनमें वहां के लोगों द्वारा भिन्न-भिन्न प्रकार के लोक नृत्यों का प्रदर्शन किया जाता है।

 

Bharat ke Rajyon ke Lok Nritya:-

 

भारत के विभिन्न राज्यों के प्रमुख लोक नृत्यों का विवरण निम्नलिखित है:-

 

  1. हरियाणा– सॉन्ग, धमाल, घोड़ी नाच, डाफ, छड़ी, गागोर, फाग आदि।

 

  1. पंजाब– गिद्दा, भांगड़ा, कीकली आदि।

 

  1. उत्तर प्रदेश– रासलीला, नौटंकी, थाली, कजरी, कुमायूं, दिवाली नृत्य, लद्दा, जैता आदि।

 

  1. बिहार- छऊ, विदेशिया, मगधी, बरवाहन, पंवरिया, जट-जटनी, विधायक झीका, सोहराई आदि।

 

  1. राजस्थान-घूमर, पनिहारी, गोपिका लीला, गणगौर, कालबेलिया, कामड, शंकरिया, डांडिया, कृष्ण नृत्य, बगरिया चंग, फूंदी आदि।

 

  1. मध्य प्रदेश- भगोरिया, मंच, नवरानी, रीना, मंदिरी, जवारा, हूल्को, गोडा आदि।

 

  1. आंध्र प्रदेश- आंध्र नृत्य, कुचिपुड़ी, बॉस्केटडॉल, वीरनाट्यम, कुंभी, मरदाला, छड़ी सिद्धि आदि।

 

  1. महाराष्ट्र– तमाशा, लावणी, ललिता, दही कला, कोली, मौनी, गौरीचा,गफा, बोहदा, पोवाडा आदि।

 

  1. असम- बिहू, बिछुआ, नागा नृत्य, खेल गोपाल, बोईसाजू, झुमरा, नटपूजा, बलि गोपाल, अंकियानार, होब्जानाई आदि।

 

  1. अरुणाचल प्रदेश– युद्ध नृत्य, मुखौटा नृत्य आदि।

 

  1. हिमाचल प्रदेश- सांगला, छरबा, डांगी, थाली, छपेली, झंडा नाच, महाथू- जद्दा, झैंता मुंजरा, छरही, नाटी आदि।

 

  1. मणिपुर- महारास, लाई हरीबा, थांगटा, राखाल, बसंत राम, पुंग चोलोम, की तलम आदि।

 

  1. उड़ीसा- जदूर मुदारी, चंगुनार, गरुड़ वाहन अया, घूमरा, संचार, सवारी, उडीसी आदि।

 

  1. जम्मू कश्मीर– मंदजास, राउफ, हिकात आदि।

 

  1. नागालैंड- युद्ध नृत्य, कुमीनागा, चैंग, लिम, रवैवा, नूरालिम आदि।

 

  1. तमिलनाडु- भरतनाट्यम, कुंभी, कोलट्म, पिन्नल कोलट्टम, कावड़ी, कडागम आदि।

 

  1. पश्चिम बंगाल- काठी, मरसिया, जात्रा, कीर्तन, गंभीरा, बाउल, छाली, रामवेश आदि।

 

  1. छत्तीसगढ़- पंडवानी, कर्मा, सुआ, दगला, कपालिक, पाली, गोंड मडिया, टपाली, वेदमती, गौड़ी आदि।

 

  1. गुजरात- रासलीला, डांडिया रास, गरबा, गणपति भजन, दीपक नृत्य, भवई, झकोलिया, लास्या, पणिहारी नृत्य आदि।

 

  1. झारखंड –छऊ, पाइका, बराओ, करमा, जननी झूमर, सरहुल, डांगा, सोहराई आदि।

 

  1. गोवा- मंडी, झागोर, जगार, टकनी, शिगमो देखनी, घोड़े आदि।

 

  1. लद्दाख- शोडोल नृत्य।

 

  1. त्रिपुरा- गजन।

 

  1. केरल- मोहिनीअट्टम, कथकली, काली अट्टम, ओथम थुलाल, ओडम आदि।

 

  1. मेघालय- लाहो, बागला आदि।

 

  1. मिजोरम- चेरो कान पारखुपिला आदि।

 

  1. कर्नाटक- लांबी, यक्षगान, कुनीता, कर्गा, सुगी आदि।