सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द

0
130
सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द
सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द

आज SSCGK आपसे सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

इससे पहली पोस्ट में शब्द और उसके भेद  के बारे में विस्तार से पढ़ चुके हैं।

 सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द:-

सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द:-प्रत्येक भाषा में कुछ ऐसे शब्द होते हैं ,जो दिखने में तो एक जैसे ही प्रतीत होते हैं, लेकिन उनका अर्थ अलग निकलता है। ऐसे शब्द सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द कहलाते हैं। हिंदी भाषा में प्रयुक्त होने वाले भिन्न  अर्थ भेद वाले कुछ महत्वपूर्ण शब्द निम्नलिखित हैं-

  1. अस्त्र- दूर से फेंककर चलाया जाने वाला हथियार।

              जैसे भाला, बाण, बम, मिसाइल, रॉकेट आदि।

              शस्त्र– हाथ में पकड़ कर चलाया जाने वाला हथियार।

              जैसे- कटार, तलवार, चाकू, समुराई आदि

 

  1. अनुसंधान- अज्ञात तथ्यों को प्रकट (उजागर) करना।

             जैसे- प्रोटॉन की खोज, रेडियम का आविष्कार, थोरियम का आविष्कार आदि।

           आविष्कार- किसी नई वस्तु का निर्माण करना।

            जैसे- टेलीविजन का आविष्कार, रेडियो का आविष्कार, बिजली के बल्ब का आविष्कार आदि।

 

  1. बहुमूल्य– बहुत अधिक कीमती वस्तु ।

              जैसे- सोना, चांदी, प्लैटिनम, हीरे, जवाहरात आदि।

              अमूल्य- जिस वस्तु की कीमत का अंदाजा ना लगाया जा सके। जैसे- चरित्र, विद्या, त्याग, बलिदान आदि।

 

  1. कृपा– अपने से छोटे लोगों का दुख दूर करने की चेष्टा करना।

                दया– अन्य लोगों की दुखों को देखकर ह्रदय पसीजना (पिघलना)‌।

हिंदी भाषा में भिन्नार्थक शब्द:-

 

  1. उत्साह -जोश।

               जैसे- अध्यापक बच्चों में पढ़ाई के प्रति जोश भरता है।

              साहस-हिम्मत।

              जैसे– संतोष यादव ने माउंट एवरेस्ट पर  चढ़ाई करके अपने अदम्य साहस का परिचय दिया।

 

  1. दान– किसी को वस्तु या धन देना।

              अनुदान– सरकार की ओर से विशेष कार्य योजना हेतु दी गई धनराशि।

 

  1. ज्ञान- सामान्य जानकारी होना ।

              विज्ञान– भौतिक जगत का विशेष ज्ञान होना।

 

  1. श्रद्धा- बड़ों के प्रति आदर- प्रेम भावना का होना।

             भक्ति- देवी देवता या भगवान के प्रति विश्वास होना।

 

भिन्नार्थक शब्द:-

 

  1. खेद- अपनी गलती के लिए दुख प्रकट करना।

              शोक- अपने किसी प्रिय जन की मृत्यु पर दुख प्रकट करना

 

  1. न्याय- इंसाफ करना-अदालत में न्यायाधीश द्वारा न्याय करना।

            निर्णय-काम करने का निर्णय लेना, फैसला करना, तय करना।

 

  1. आत्मकथा– अपने जीवन की कथा स्वयं लिखना।

             जीवनी- किसी महापुरुष का जीवन चरित्र लिखना।

 

             12.पाप– ईश्वरीय नियमों के विरुद्ध किया गया कार्य।

            अपराध– सरकार के नियमों के विरुद्ध किया गया कार्य।

 

सूक्ष्म अर्थ भेद वाले शब्द:-

 

             13.ज्ञान -सामान्य जानकारी होना।

            विज्ञान– भौतिक जगत का ज्ञान होना।

 

  1. शक -संदेह। जैसे किसी बात पर शक होना, किसी के आचरण पर शक होना आदि।

              आशंका– किसी बुरी घटना का भविष्य में होने का भाव।

 

  1. कष्ट– शारीरिक पीड़ा, शारीरिक दुख ।

                क्लेश- मानसिक पीड़ा।

 

             16.ईर्ष्या- दूसरों की तरक्की से जलना।

             स्पर्धा- दूसरों की तरक्की देखकर स्वयं भी तरक्की करने का प्रयास करना।