भारत के प्रसिद्ध मंदिर

0
52
भारत के प्रसिद्ध मंदिर
भारत के प्रसिद्ध मंदिर

भारत के प्रसिद्ध मंदिर:- इस आर्टिकल में आज SSCGK आपसे भारत के प्रसिद्ध मंदिर के बारे में पूरी विस्तार से चर्चा करेंगे। इससे पहले आर्टिकल में आप भारत के प्रमुख त्योहार के बारे में विस्तार से पढ़ चुके हैं।

भारत के प्रसिद्ध मंदिर:-

हमारा भारतवर्ष एक धार्मिक देश है । यहां विभिन्न धर्मों को मानने वाले लोग रहते हैं ।सब लोग आपस में मिल
जुल कर जीवन यापन करते हैं। सभी एक दूसरे के धर्मों का सम्मान करते हैं तथा इससे देश में एक संदेह रहित
सुखद वातावरण का निर्माण होता है। यहां रहने वाले लोग किसी भी प्रकार की बाधाओं के बिना स्वतंत्रतापूर्वक
अपने धर्म का पालन कर सकते हैं। यही कारण है कि देश के हर कोने में आपको किसी भी धर्म की आस्था के
प्रतीक मिल जाएंगे ।

सारे संसार में लगभग 950 मिलियन हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग रहते हैं और इस प्रकार हिंदू बाहुल्य वाले
देश में हिंदू मंदिरों का मिलना कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी । हमारे भारतवर्ष में लाखों हिंदू मंदिर हैं। इनमें
से कुछ मंदिर तो बहुत ज्यादा प्राचीन हैं। इनमें से कई हिंदू मंदिर ऐसी शैलियों से बनाये गये हैं कि देखने वाले
आश्चर्यचकित हो जाएं।  हिंदू भक्तों के प्रयासों के कारण पुराने मन्दिर नष्ट होने से बचे हुऐ हैं।

Famous Temples of India-

आज, मैंने दस मंदिरों का चयन उनकी लोकप्रियता, दृढ़ विश्वास, इतिहास और स्थापत्यकला के महत्व को
ध्यान में रखते हुए किया है जिनके बारे में जानकारी प्राप्त कर आप लाभान्वित हो सकें। प्रमुख मंदिरों की
सूची निम्नलिखित है-

No.1. काशी विश्वनाथ मंदिर-यह मंदिर उत्तर प्रदेश राज्य के वाराणसी नामक स्थान पर स्थित है। यह मंदिर
भगवान शिव को समर्पित है। यह भारत के सबसे पवित्र मंदिरों में से एक है। अहिल्याबाई द्वारा सन् 1780 में
इस मंदिर का निर्माण किया गया था। लोगों की मान्यता है कि पवित्र गंगा नदी में स्नान द्वारा पापों से मुक्ति मिल
जाती है इसी बात को ध्यान में रखते हुए हजारों श्रद्धालु यहां स्नान करने एवं भगवान शिव के दर्शन करने के
लिए आते हैं। स्वर्ग जाने का जाने का विश्वास रखने वाले लोगों के लिये यह मंदिर अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है।

भारत के प्रसिद्ध मंदिर-

No.2. भगवान जगन्नाथ मंदिर-यह मंदिर उड़ीसा राज्य के पुरी नामक स्थान पर स्थित है। यह मंदिर भगवान
जगन्नाथ को समर्पित है। यह भारत के सबसे पुराने मंदिरों में से एक है। यह मंदिर 12 वीं सदी में बनाया गया था
। भगवान जगन्नाथ के अनुयायियों का मानना है कि यहाँ पर देवी लक्ष्मी द्वारा महाप्रसाद बाँटा गया था और
जिन्होंने इस प्रसाद को ग्रहण किया उनको आध्यात्मिक ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। प्रसिद्ध जगन्नाथ मंदिर वार्षिक
रथ यात्रा के लिए बहुत लोकप्रिय है।

No.3. वैष्णो देवी मंदिर -यह मंदिर माता वैष्णो देवी को समर्पित है। यह जम्मू राज्य कटरा में एक पहाड़ी की
चोटी पर स्थित है। यह भारत के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए हर वर्ष
लगभग 8 लाख श्रद्धालु आते हैं। यह मंदिर भारत का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है, जो की शक्ति को समर्पित है।
मां वैष्णो देवी सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण करती हैं।

भारत के प्रसिद्ध मंदिर-

No.4. वेंकटेश्वर तिरुपति बालाजी मंदिर- यह मंदिर आंध्र प्रदेश राज्य में स्थित है। यह मंदिर भारत के
सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। इस मंदिर का निर्माण कृष्णदेव राय के शासन काल में किया गया था।
यहां पर हर वर्ष लगभग 40 मिलियन श्रद्धालु आते हैं। क्या भारत का सबसे दूसरा धनी मंदिर है।

No.5.सोमनाथ मंदिर- सोमनाथ मंदिर गुजरात राज्य में स्थित है। यह मंदिर भगवान शिव के प्रथम ज्योतिर्लिंग
के रूप में स्थापित है। हिंदू अनुयायियों का ऐसा मानना है कि भगवान शिव के अभिशाप से मुक्त होने के बाद
चंद्रदेव ने इस मंदिर का निर्माण किया था। आज तक इस मंदिर की कई बार मरम्मत भी की जा चुकी है।

No.6.कामख्या देवी मंदिर- यह मंदिर असम राज्य में स्थित है। यह मंदिर कामाख्या देवी को समर्पित है। यह
भारत के 51 शक्ति पीठों में से सबसे पुराना मंदिर है। यह तांत्रिकों की उपासना का केंद्र है। यहां आकर तांत्रिक
लोग पूजा के रूप में इच्छापूर्ति के उद्देश्य से देवी पर बकरियों की बलि चढ़ाते हैं। 

भारत के प्रसिद्ध मंदिर-

No.7. रामनाथस्वामी मंदिर (रामेश्वरम)- यह मंदिर तमिलनाडु राज्य के रामेश्वरम में स्थित है। यह
मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। यह भारत के प्रसिद्ध है मंदिरों में से एक है। यह भारत में भगवान
शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इसके गर्भगृह में एक सीता देवी द्वारा निर्मित और एक भगवान
राम द्वारा निर्मित दो शिवलिंग हैं।

No.8. सिद्धिविनायक मंदिर- यह मंदिर महाराष्ट्र राज्य मैं मुंबई में स्थित है। यह मंदिर भगवान गणेश
को समर्पित है। इस मंदिर का निर्माण सन् 1801 में किया गया था। इस मंदिर की खास विशेषता यह है कि
इसके अंदर की छत सोने की बनी हुई है तथा इसके लकड़ी के दरवाजे अष्टविनायक की छवियों को तराश
कर बनाये गये हैं। 

No.9. महाबोधि मंदिर परिसर- महाबोधि मंदिर बिहार राज्य के गया नामक स्थान पर स्थित है। बौद्ध धर्म
के अनुयायियों का मानना है कि इसी स्थान पर भगवान बुद्ध को अलौकिक की ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। यह
भारत की प्रसिद्ध मंदिरों में से एक हैं। यहां दुनिया भर से हजारों हिंदू एवं बौद्ध श्रद्धालु आते हैं। यूनेस्को ने इस
को विश्व विरासत स्थल के रूप में मान्यता दी है।

भारत के प्रसिद्ध मंदिर-

No.10. मेहंदीपुर बालाजी मंदिर:- मेहंदीपुर बालाजी मंदिर राजस्थान राज्य के दौसा जिले के पास
तीन पहाड़ियों के बीच स्थित है। इस मंदिर को भारत में अध्यात्म और धर्म की दृष्टि से विशेष दर्जा प्राप्त है।
यहां पर आकर आपको विचित्र चीजें देखने को मिलेंगी, जिनसे आप डर भी सकते हैं। जैसा कि आप जानते
ही हैं कि वैज्ञानिक भूत-प्रेत के अस्तित्व से इंकार करते हैं, लेकिन यहां का नजारा आपको सोचने पर मजबूर
कर देगा। यहां पर हर रोज दूर दराज से लोग भूत प्रेत की बाधा से मुक्ति पाने के लिए आते हैं।

मेंहदीपुर बालाजी की विशेष बातें-

(1). मेंहदीपुर बालाजी के बायीं छाती में एक छोटा सा छेद है, जिसमें से लगातार जल बहता है। मान्यता
है कि यह बालाजी का पसीना है।

(2). मेंहदीपुर बालाजी के समीप भगवान राम और माता सीता की मूर्ति है। इस मंदिर में भगवान हनुमान
बाल रूप में मौजूद हैं।

(3). मेंहदीपुर बालाजी मंदिर के किसी भी प्रसाद को खाने की मनाही है। यहां के प्रसाद को आप किसी
को नहीं दे सकते हैं। इस प्रसाद को आप घर भी नहीं ले जा सकते हैं। ऐसी लोक मान्यता है कि आप यहां
के किसी चीज को अगर घर लेकर जाते हैं, तो आपके ऊपर बुरी साया का असर आ जाता है।

(4). यहां पर भैरव बाबा यानि कोतवाल कप्तान की मूर्ति है। यहां पर हर रोज 2 बजे प्रेतराज सरकार के
दरबार में कीर्तन होता है ताकि भूत-प्रेत की बाधाओं और नकारात्मक बुराइयों से छुटकारा पाया जा सके।
यहीं पर आकर सभी श्रद्धालुओं को नकारात्मक बाधाओं से मुक्ति मिलती है।