CTET Previous Year Question Paper 2

0
111
ctet-previous-year-question-paper-2
ctet-previous-year-question-paper-2

CTET Previous Year Question Paper 2:- साथियों आज SSC GK आपके लिए  ctet solved question paper last 5 years pdf , ctet paper 2 social science previous year question papers , ctet previous year question paper with answer , ctet previous year question paper pdf in hindi लेकर आया है. यदि आप Google पर  स्टेट प्रीवियस ईयर क्वेश्चन पेपर with answer or ctet question paper pdf को Search कर रहे थे तो आप बिलकुल सही वेबसाइट SSC GK पर है.

CTET Previous Year Question Paper 2

इस पोस्ट में हम आपको   ctet hindi pedagogy syllabus ctet free mock test in hindi के बेहतरीन नोट्स उपलब्ध करवा रहे है.

Que.-1.घनाक्षरी छंद के भेद है – रूप घनाक्षरी (32 वर्ण ) और देव घनाक्षरी (33 वर्)

Que.-2.सवैया के तीन प्रकार है – भगण से बना हुआ, सगण से बना हुआ और जगण से बना हुआ

Que.-3.सवैया छंद के भेद है – मतगयंद (मालती) सवैया, सुमुखी सवैया, चकोर सवैया (23 वर्ण), किरीट सवैया, दुर्मिल सवेया, अरसात सवैया (24 वर्ण), सुंदरी सवैया, अरविंद सवैया, लवंगलता सवैया (25 वर्ण) एवं सुख सवैया या कुंदलता सवैया (26 वर्ण)

Que.-4.आचार्य भरत ने नाटयशास्त्र में रस माने है – उन्होंने नाटक में आठ रस माने है

Que.-5.नवां रस ‘शांत रस’ कब से स्वीकार किया गया – हर्षवर्ध्दन रचित नागानंद नाटक की रचना के बाद

Que.-6.वात्सल्य रस की स्थापना कब हुई – महाकवि सूरदास द्वारा वात्सल्य सम्बन्धित मधुर पद से

Que.-7.भक्ति को रस रूप माना गया – भक्ति रसामृत सिंधु और उवल नीलमणि नामक ग्रंथ की रचना के बाद

Que.-8.रसों की कुल संख्या है – वर्तमान में 11

Que.-9.रस शब्द किसके योग से बना है – रस् + अच्

Que.-10.नाटयशास्त्र के आधार पर रस की परिभाषा है – स्थाई भाव, विभाव, अनुभाव और संचारी भाव के संयोग से रस की निष्पति होती है।

CTET Previous Year Question Paper 2 Complete Notes PDF Download

Download CTET Previous Year Question Paper 2 Complete Notes PDF = Click Here

Join CTET Previous Year Question Paper 2 Whatsapp Group = Click Here

Join CTET Previous Year Question Paper 2 Telegram Group = Click Here